माली संस्थान जोधपुर की गतिविधियां वर्ष 2014


1.विकास की गतिविधियां :-

1. श्रीमती सोनीदेवी देवीलाल गहलोत गुरुकुल आश्रम :-

श्रीमती सोनीदेवी देवीलाल गहलोत गुरुकुल आश्रम के निर्माण में समाज के विभिन्न भामाशाह व दानदाताओं के साथ प्रमुख रूप से ठेकेदार साहेब श्री देवीलाल जी गहलोत का सहयोग रहा तथा इसका नाम भी उनकी धर्मपत्नी श्रीमती सोनीदेवीजी की स्मृति में श्रीमती सोनीदेवी देवीलाल गहलोत गुरूकुल छात्रावास रखा गया।

रामबाग में गुरूकुल छात्रावास देश में माली समाज का सबसे बड़ा छात्रावास है जिसमें 400 विद्यार्थी रहते है जो कि स्कूल, कॉलेज एवं बीपीपीएस में अध्ययनरत है। यह छात्रावास पूर्ण सुविधायुक्त पांच मंजिला भवन व लगभग 60 हजार वर्गफीट क्षेत्रफल में फैला हुआ है।

2. माली संस्थान के रामबाग परिसर स्थित स्वर्गाश्रम में गैस आधारित शव दाहगृह चैम्बर की स्थापना की गई। जिसकी अनुमानित लागत लगभग 17 लाख रूपये है। इससे पर्यावरण संरक्षण को बढावा मिलेगा साथ ही शव के अन्तिम संस्कार में होने वाले व्यय में कमी आयेगी। यह शव दाहगृह चैम्बर माली समाज का प्रथम एवं जोधपुर जिले में द्वितीय एवं राजस्थान का चतुर्थ है। माली संस्थान द्वारा तीसरे अथवा 12वें के उठावणा हेतू सामूहिक बैठक (औरतो/पुरूषों) की विशेष सुविधा प्रदान की जाती है , इस परियोजनार्थ पवेलियन निर्माणाधीन है।

3.खेजड़ला स्थित समाज की जमीन पर सुमेर माध्यमिक विद्यालय का संचालन किया जा रहा है तथा इस भूमि का भू उपयोग परिवर्तन करवाया गया, तथा वर्तमान में 250 से अधिक विधार्थी अध्ययनरत है तथा 100 विधार्थियों का छात्रावास भी इस प्रंागण में संचालित हो रहा है।

4.रामबाग परिसर में पानी की समस्या से निजात पाने हेतु एक लाख लीटर क्षमता वाले ओवर हैड टैंक का निर्माण करवाया गया। इसमें श्री राकेश गहलोत इंजीनियर, श्री अशोक जी गहलोत ठेकेदार एवं समाज के कई तकनीकी ज्ञाताओं ने सहयोग प्रदान कर इसको पूर्ण करवाने में मदद की। जिसकी लागत लगभग 8 लाख 81 हजार रूपये है।

5.संस्थान द्वारा संचालित कीर्ति नगर, मगरा पूंजला, जोधपुर स्थित बालिका छात्रावास में राजस्थान एवं राजस्थान के बाहर अन्य राज्यों की लगभग 105 बालिकाएं लाभान्वित हो रही है तथा 170 बालिकाओं तक के ठहरने की व्यवस्था है। ये छात्रावास पूरे राजस्थान में माली समाज का एकमात्र बालिका छात्रावास है जो CCTV कैमरों की सुरक्षा प्रणाली से युक्त है जो माली संस्थान द्वारा संचालित किया जा रहा है।

6. रामबाग परिसर में संचालित बहु प्रतियोगी प्रशिक्षण संस्थान में लगभग 600 विद्यार्थी अध्ययनरत है जिनको बहु प्रतियोगी संस्थान द्वारा निःशुल्क शिक्षा एवं विभिन्न सरकारी पदों की भर्ती से पूर्व शिक्षण एवं प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। यह परिसर नवीनतम साधनों से परिपूर्ण, ब्ब्ज्ट कैमरों की सुरक्षा प्रणाली से युक्त है एवं ऑनलाइन पेपर सेट हेतु इन्टरनेट प्रणाली से युक्त कम्प्यूटर मय लेब का संचालन किया जाता है। इस वर्ष संस्थान के परिणाम 154 अन्तिम रूप से चयनित युवा साथी रहे।

7.वर्ष 2014 से प्रशानिक सेवाओं में (IAS, RAS) भर्ती पूर्व शिक्षण, प्रशिक्षण एवं व्यक्तितव विकास सम्बन्धी कार्यक्रमों का संचालन प्रारम्भ कर 35 अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।

8.रामबाग परिसर में श्रीमती सोनीदेवी देवीलाल गहलोत गुरूकुल छात्रावास में लगभग 350 से ज्यादा राजस्थान एवं राज्य के बाहर के, समाज के विद्यार्थी, आधुनिक सुविधा युक्त लॉजिंग एवं बॉर्डिंग का लाभ प्राप्त कर रहे है जिसमें स्वचालित रोटी बनाने की मशीन भी स्थापित कर दी गई है।

शिविर:-

माली संस्थान, जोधपुर एवं बहु प्रतियोगी प्रशिक्षण संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में श्रीमती सोनीदेवी देवीलाल गहलोत गुरुकुल छात्रावास, रामबाग परिसर, महामन्दिर, जोधपुर मंे समाज बन्धुओं को सहायतार्थ के लिए दो शिविरों का आयोजन कर 800 से अधिक मूल निवास प्रमाण पत्र, अन्य पिछड़ा वर्ग प्रमाण पत्र तथा शैक्षणिक गतिविधियों हेतु आय प्रमाण पत्र हेतु लागत मूल्य पर दस्तावेज तैयार किये गये। शिविरों में समाज के पार्षद, पटवारी, राजपत्रित अधिकारी, एडवाकेटस्, नोटेरी पब्लिक, फोटो कोपियर्स, अर्जेन्ट फोटो एवं उक्त कार्यों से सम्बन्धित समाज के सलाहकार तथा स्वयं सेवकों द्वारा अपनी सेवाऐं प्रदान की।

सामुहिक विवाहः-

वर्ष 2014 की अक्षय तृतीया दिनांक 2 मई को 4 जोड़ों का निःशुल्क विवाह करवाया गया। विवाह प्रमाण पत्र जिला कलक्टर कार्यालय से एवं नगर निगम से प्रदान करवाया गया। विवाह कार्यक्रम में कोई उपहार दहेज नहीं दिया जाता है व भ्रूण हत्या नहीं करने की शपथ दिलायी जाती है। संस्थान के कार्यालय में मैरिज ब्यूरों की स्थापना की गयी है, जिसमें प्रत्येक रविवार को प्रातः 11 से दोपहर 3 बजे तक विवाह योग्य व्यक्तियों के परिजनों से संवाद स्थापित कर सामाजिक व्यवस्था के निर्वहन होता है।

पेंशनः-

इस वर्ष से बैंक में खाता खुलवाकर चैक द्वारा समाज की असहाय, विधवा, परित्यक्ता महिलाओं एवं वृद्धजनों हेतु प्रतिमाह रूपये 500/- पेंशन प्रदान प्रदान की जा रही है।

चिकित्सा सहायता:-

समाज के असहाय बीमार जनों हेतु चिकित्सा सहायता प्रदान की जाती है।

छात्रवृत्ति एवं प्रतिभा सम्मान समारोह कार्यक्रम:-

माली संस्थान जोधपुर द्वारा प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी वार्षिक उत्सव दशहरा वाले मनाया जा रहा है, इस दिन समाज के मेधावी कक्षा 10वीं के 194 छात्र-छात्राओं, 12वीं के 210 छात्र-छात्राओं को छात्रवृति, प्रशस्ति पत्र एवं मैडल प्रदान कर सम्मानित किया गया एवं स्नातक के 475 छात्र-छात्राओं एवं स्नातकोतर के 59 छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं मैडल प्रदान कर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार समाज के अन्य 28 उच्च शिक्षित विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र एवं मैडल प्रदान कर सम्मानित किया गया तथा समाज में उल्लेखनीय क्षेत्र में उपलब्धि प्राप्त 15 जनों को विशेष सम्मानित किया गया एवं समाज में उल्लेखनीय क्षेत्र में उपलब्धि प्राप्त 16 जनों को विशिष्ठ सम्मानित किया गया।

सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी का सफल क्रियान्वयनः-

1. श्रीमती कमलादेवी गहलोत कम्प्यूटर सेन्टर, जोधपुर द्वारा वेबसाईट www.sainimalisamaj.com का निर्माण किया गया, जिससे समाजिक स्तर पर सूचना प्रौद्योगिकी का प्रयोग किया गया।

2. वेबसाईट पर 90 हजार से भी अधिक समाज महानुभावों को जोड़ा गया है, जुड़े हुए समाज बन्धु वेबसाईट पर उपलब्ध सूचना का उपयोग कर लाभान्वित हो रहे है।

3. वेबसाईट पर सामुहिक विवाह के सम्बन्ध में आवेदन पत्र एवं अन्य जानकारी उपलब्ध करवाई गई।

4. माली संस्थान जोधपुर द्वारा पहली बार छात्रवृति के ऑनलाईन आवेदन इस वेबसाईट के माध्यम से 1400 प्राप्त किये गये। 1000 से अधिक चयनित प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को माली समाज द्वारा इस वर्ष छात्रवृति, प्रशसा पत्र एवं मैडल प्रदान किये जायेंगे, जिसकी सूची इस वेबसाईट पर उपलब्ध करवाई गई है तथा सभी को म E-mail एवं SMS द्वारा सूचित किया गया।

5. माली संस्थान जोधपुर द्वारा इस वेबसाईट के माध्यम से भाटी मेमोरियल हॉल एवं धर्मशाला बुकिग ऑन लाईन का कार्य प्रगति पर है।

6. माली संस्थान के आजीवन सदस्यों को संस्थान का पहचान पत्र का सॉफ्टवेयर तैयार कर दिया गया है।

7. माली संस्थान जोधपुर के आजीवन सदस्य एवं सामान्य सदस्य के फार्म भी इस वेबसाईट के माध्यम से प्राप्त किये जा रहे।

खेलकूद प्रतियोगिताओं एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन:-

1. माली संस्थान जोधपुर द्वारा ग्रीष्मकालिन अवकाश में विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताओं एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जो लगभग एक माह तक आयोजित किये गये। इन प्रतियोगिताओं में मुख्यतः क्रिकेट, फुटबॉल, बालीवाल (शुटिंग), ऐथलेटिक्स, स्केटिंग में लगभग 2700 प्रतिभागियों ने अपनी भागीदारी निभाई।

2. वहीं जलेबी रेस, रंगोली, मेहन्दी तथा सांस्कृतिक प्रतियोगिता, नृत्य, सामूहिक नृत्य, साफा बन्धाई, मिस माली, मिस्टर माली सहित अनेक, प्रतियोगिताओं का आयोजन कर समाज के सभी आयु वर्ग के महानुभावों ने हिस्सा लेकर इस सामाजिक आयोजन को सफल बनाया है।

अन्य गतिविधियां:-

रामबाग परिसर में विकास कार्य करवाये गये।

परिसर में सीमेंट RCC करवायी गई।

श्री छगनीराम जी गहलोत द्वारा डामर सड़क का निर्माण किया गया।

परिसर को यथास्थान चार मास्क लाईट व अन्य लाईट्स द्वारा प्रकाशमय किया गया तथा 40 मर्करी लाइटें लगवाई गई।

OBC बैंक में ATM का निर्माण किया गया।

श्मशान के पीछे नहरों से निकलने वाले गंदे पानी से परिसर में गंदगी व कीचड़ आता था जिसको रोकने के लिए नहर को लगभग 500 फीट सीमेंट का प्लास्टर लगवाकर ठीक किया गया।

कीर्तिनगर स्थित वृद्धाश्रम एवं बालिका छात्रावास की बाउन्ड्री वॉल को 8 फुट से 20 फुट ऊँची कर दी गई है।

छात्रावास परिसर में IAS/RAS की कक्षाओं को संचालित करने हेतु कमरों को उनके अनुरूप विकसित किया गया है।

रामबाग परिसर में निर्माणाधीन पवेलियन (अनुमानित 1.50 करोड़ की लागत) का कार्य प्रगति पर है, जिसका मूलनिर्माण हो चुका है, स्टेज व अन्य कार्य प्रगति पर है।

भाटी हॉल जो वातानुकूलित मय है, में सुधार के साथ रसोईघर व विश्रामगृह में नवीनतम सुधार कार्य किये गये।